Dil ki dhadkan mejo basa ho -kya milega

अब जुदा है हमसे वो अब क्या मिलेगा।

मेरे हर पल में चेहरा है जिसका।
वो अब किसी पल में क्या मिलेगा।

ज्यादा न सही पर मोहब्बत थी वो मेरी।
अब उस जैसा कोई क्या मिलेगा।

हमसाया साथ हुआ करता था कभी।
अब वो साया हमें क्या मिलेगा।

वो बेवफा नहीं हम जानते है…2
पर फिर भी जुदा हो गया वो, अब क्या मिलेगा।

उसके हाथों में लगी मेहँदी कभी मेरी हुआ करती थी।
अब किसी और के नाम में मेरा नाम क्या मिलेगा।

बस रह गया बेकरार में उस प्यार के लिए।
जो प्यार था ही नहीं अब क्या मिलेगा।

अब जुदा है हमसे वो अब क्या मिलेगा। ……..2

यहाँ भी पड़े : Mohabbat ki dawa hai ki nahi

Dil ki dhadkan mejo basa ho
Ab juda hai hamse wo ab kya milega.

Mere har pal me chehra tha jiska
Wo ab kisi pal me kya milega.

Jyada na sahi pr mohbbat thi wo meri.
Ab us jesa koi kya milega.

Hamsaya sath hua karta tha kabhi.
Ab wo saya hame kya milega.

Wo bewafa nahi ham jante hai.
Pr fir bhi juda ho gaya ab kya milega.

Uske hato me lagi mehndi kabhi meri hua karthi thi.
Ab kisi or ke nam me mera nam kya milega.

Bs rah gaya bekarar me us pyar k liye.
Jo pyar tha hi nahi ab kyaa milega.

यहाँ भी पड़े : Soch Raha Hu Teri Tarif Mai Kiya Likhu-Hindi Shayri

Kashtee.in

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here