आरजुएं अश्क़ से बेहतर है तेरा मिलने चले आना।

आरजुएं अश्क़ से बेहतर है तेरा मिलने चले आना।

आरजुएं अश्क़ से बेहतर है तेरा मिलने चले आना।

आशिकी कर के दिल मे हमारे उतर जाना।

बेखुदी मैं भी बेवफाई न कर जाना ए दोस्त।

रहे न दूरी दरमियां ये दुआ-ए-कर जाना।

फकत इतनी आरजू है इस दिल की मेरे हमसफर।

साहिल के किनारे पर हमें तन्हा छोड़ कर न चले जाना।

आशिकी कर के दिल मे हमारे उत्तर जाना……2

Kashtee.in

kashtee

Hi, i hope your all enjoy my blog which is update through different post of shayari post and quotes.

Leave a Reply